Inspirational Story in Hindi Moral Stories in Hindi Motivational Story in Hindi Stories

एक शेर और तीन गाय की : Best Motivational Story

Motivational Story in Hindi
Written by admin

जंगल के किनारे स्थित एक चारागाह में तीन गाएं रहती थीं । तीनों भिन्न भिन्न रंगों की थीं एक काली एक सफेद और एक भूरी । उनमें बहुत  मित्रता थी । तीनों दिनभर साथ रहती । साथ ही चारागाह में घास चरती, को रात में एक दूसरे के पास ही सोती थी । एक दिन भूरे रंग का एक शेर जंगल में भटकते हुए शारदा के पास से गुजरा । वहां उसकी दृष्टि उन तीनों गायों पर पड़ी । शेर कई दिनों से भूखा था और शिकार की तलाश में भटक रहा था । हष्ट पुष्ट गायों को देखकर उसके मुंह में पानी आ गया ।

वह घात लगाकर एक बड़ी चट्टान के पीछे बैठ गए । उन तीनों गायों के अलग अलग होने का इंतिजार करने लगा । समूह में उनका सामना करना उसके लिए मुश्किल था किन्तु पूरे दिन बीत जाने के बाद वे तीनों गाय एक दूसरे से अलग नहीं हुए । दूसरे दिन भी इसी तरह बीता । तीन दिन तक शेर प्रतीक्षा करता रहा किंतु ऐसा अवसर आया नहीं जब तीनों गाय साथ ना हों । आखिरकार शेर के धैर्य  ने  जवाब दे दिया । अब ऐसा उपाय सोचने लगा जिससे तीनों गायों में अलगाव हो जाए ।

ये भी पढ़ें: Motivational Story in Hindi – जितने अच्छे विचार होंगे, जीत उतनी ही शानदार होगी

उपाय दिमाग में आते ही वे गायों के पास गया उनका अभिवादन करते हुए बोला नमस्कार । आप लोग कैसे हो । मैं यहां से गुजर रहा था । आप लोगों को देखा तो सोचा मिल  लूँ । काली और सफेद गाय ने शेर के अभिवादन का कोई उत्तर नहीं दिया क्योंकि उसकी प्रकृति जानते थे परन्तु भूरी गाय ने शेर का अभिवादन स्वीकार करते हुए प्रसन्नतापूर्वक उत्तर दिया । मित्र तुम से मिलकर बहुत खुशी हुई । काली और सफेद गायों को भूरी गाय का सिंह से बात करना अच्छा नहीं लगा ।

वे जानती थीं कि शेर विश्वास योग्य नहीं हैं । एक दिन शेर भूरी गाय के पास आकर बोला कि तुम तो देख ही रही हो  कि हमारे शरीर का रंग गाढा  है और सफेद गाय का हल्का, हल्का रंग गाढ़े रंग से भिन्न होता है । अच्छा होगा कि मैं सफेद गाय को मारकर खा जाऊं । इस तरह हम सब में कोई अंतर नहीं रहेगा और हम अच्छे से साथ  रह पाएंगे । भूरी गाय शेर की बात मान गई और काली गाय को एक तरफ ले जाकर उसे अपनी बातों में व्यस्त कर लिया ।

इधर सफेद गाय को अकेली पाकर शेर उसे मारकर खा गया । कुछ दिन गुजरने के बाद शेर फिर से भूरी गाय के पास आया और बोला तुम्हारे और मेरे शरीर का रंग बिल्कुल एक समान है किंतु देखो काली गाय का रंग हमारे रंग से नहीं मिलता इसलिए मैं ऐसा करता हूं कि काली गाय को मारकर खा लेता हूं । इस तरह हम एक रंग के प्राणी हो जाएँग और यहां हंसी खुशी रहेंगे ।

भूरी गाय ने फिर से शेर की बात मान ली और काली गाय को अकेले छोड़कर दूर चली गई । इधर शेर ने मौका देखकर काली गाय पर हमला कर दिया और उसे मारकर खा गया । अब भूरी गाय चारागाह में अकेले रह गई । सारा दिन अकेले घूमती और घास चरती रहती । वे बहुत प्रसन्न थी । उसे ऐसा लगने लगा था कि वह इकलौती ऐसी प्राणी है जिसका रंग शेर के रंग के समान है ।वह स्वयं को शेर के समकक्ष समझने लगी ।

ये भी पढ़ें: Teacher और Student की – Heart Touching Motivational Story Hindi

कुछ दिन बीतने के बाद शेर को फिर से भूख लगी तो भूरी गाय के सामने आया और जोर से दाहड़ा, सिंह का ये रूप देखकर भूरी गाय डर गई । शेर उससे बोला आज तुम्हारी बारी है । आज मैं तुम्हें मारकर खा जाऊं । भूरी गाय डर से थर थर कांपने लगी और बोली कि मैं तो तुम्हारी मित्र हूँ तुमने मुझे जैसा कहा हमने वैसा ही किया तुम मुझे कैसे खा सकते हो । शेर ने फिर से दहाड़ लगाई और बोला मूर्ख गाय मेरा कोई मित्र नहीं । ऐसा कैसे हो सकता है कि मैं शेर होकर एक गाय से मित्रता करूंगा । भूरी गाय शेर के सामने गिड़गिड़ाती रही किंतु शेर ने उसकी एक ना सुनी और उसे मारकर खा गया ।

दोस्तो Motivational Story से यह सीख मिलती है कि एकता में बड़ा बल है । कोई भी समूह एकता के बिना आसानी से बिखर जाता है और नष्ट हो जाता है ।

दोस्तों  इस कहानी ने आपके दिल को छुआ हो या आप को मोटीवेट तो  इस मोटिवेशनल स्टोरी  को शेयर जरूर करें ।

About the author

admin

8 Comments

Leave a Comment

escort adana - escort bodrum - adana bayan escort - escort - adana escort bayan
Enable Notifications    OK No thanks