Inspirational Story in Hindi Moral Stories in Hindi Motivational short story in hindi Stories

बेटियों को कम आंकना: एक परम्परा-Motivational Story

Written by Pooja

बेटियों को कम आंकना: एक परम्परा-Motivational Story

यह मोटिवेशनल कहानी है बिहार के एक छोटे से गांव की है जहां पर लड़के और लड़की की शादी या तो बचपन में ही तय कर दी जाती है। ऐसे ही एक लड़की थी। जिसका नाम जया था। जब जया 3 साल की थी तभी उसकी शादी एक गांव के लड़के से तय कर दी गई। लेकिन 21 साल बाद वक्त बदल गया था और जया बड़ी हो गई थी। लेकिन अब जया बहुत पढ़ी-लिखी लड़की थी। और जिस लड़के से जया की शादी तय हुई थी। वह सिर्फ खेती ही करता था।

डरपोक पत्थर | Sneaky stone I Motivational Story in Hindi

जया और पढ़ लिखकर कुछ बनना चाहती थी। जया की इच्छा थी कि वह बड़ी होकर देश की सेवा करें। इसीलिए जया आईपीएस बनना चाहती थी। लेकिन जब जया को पता चला कि उसकी  शादी बचपन में ही तय कर दी गई है, और अब उसकी शादी कर दी जाएगी। तो जया को बहुत दुख हुआ। जया ने अपने घरवालों से कहा कि मैं अभी शादी करना नहीं चाहती, मैं पढ़ लिखकर कुछ बनना चाहती हूं। जया के घर वालों ने कहा बेटी तुम बड़ी हो गई हो, और शादी के लिए तुम्हारी उम्र भी ठीक है और लड़के वाले भी शादी करने के लिए कह रहे हैं।
जया को अपने परिवार वालों की बात सुनकर और ज्यादा दुख हुआ । कुछ दिन बाद लड़के वाले जया के घर आ गए , और जया के घरवालों से कहने लगे कि अब हम शादी करना चाहते हैं। जया तुरंत बोल पड़ी कि मैं अभी शादी नहीं करना चाहती। मैं अभी और पढ़ना चाहती हूं और कुछ बनना चाहती हूं। लड़के के घर वालों ने कहा नहीं नहीं अब तुम बहुत पढ़ चुकी हो शादी करो और घर संभालो आगे पढ़ने की जरूरत नहीं है, और कुछ बनने की भी जरूरत नहीं है। बस अपना घर ठीक-ठाक से संभालना वह बहुत है।

जया के परिवार वाले भी कहने लगे कि हां हां यह ठीक कह रहे हैं। शादी करो और अपना घर संभालो बस वही बहुत है। जया अब सोच में पड़ गई कि अगर मेरी शादी हो गई तो मेरा सपना सिर्फ सपना ही रह जाएगा, मैं उसे कभी पूरा नहीं कर पाऊंगी। जया सोचने लगी कि शादी को कैसे रोका जाए। जया को पंचायत का ख्याल आया तो पंचायत में पहुंच गई और अपने बारे में सब कुछ बता दिया, कहने लगी कि मैं अभी शादी नहीं करना चाहती। पढ़ लिखकर कुछ बनना चाहती हूं। जया को जो उम्मीद पंचायत से थी उसका तो उल्टा ही हुआ।

पंचायत ने अपना फैसला सुनाया कि हमारे गांव की यही परंपरा है। यहां सभी की शादी बचपन में तय हो जाती है, और इस परंपरा को तुम्हें मानना ही पड़ेगा, इस परंपरा को तोड़ दोगी तो तुम्हें और तुम्हारे परिवार वालों को दंड दिया जाएगा। जया को अब और भी दुख हुआ कि अब वह क्या करें, लेकिन वह अभी भी शादी करने को राजी नहीं हुई।

क्या ज़िन्दगी में आपने भी हार मान ली है तो ये कहनी जरूर पढ़ें

कुछ ही दिन बाद लड़के वाले जया और उसके घर वालों पर शादी करने के लिए दबाव बनाने लगे। लेकिन जया मानने को तैयार नहीं थी। लड़के वालों ने यह बात पंचायत में बताई तो पंचायत ने फैसला सुनाया कि यदि जया ने 30 दिन के अंदर शादी नहीं की तो जया के परिवार वालों को ₹200000 जुर्माना देना होगा, और पूरे परिवार को गांव से बाहर भी निकाला जा सकता है। जया के परिवार वाले भी डर गए थे और सभी जया से शादी करने के लिए कहने लगे।

लेकिन जया अभी भी शादी नहीं करना चाहती थी, जया ने पुलिस के पास जाने की सोंची। अगले दिन जया पुलिस स्टेशन पहुंच गई और अपनी आपबीती सुनाई। पुलिस ने कहा ठीक है – ठीक है हम आकर देख लेंगे। जया के चेहरे पर थोड़ी मुस्कान आई कि अब उसकी शादी नहीं होगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं क्योंकि 4 दिन बीत गए थे और पुलिस अभी तक नहीं आई थी। जया पांचवे दिन फिर पुलिस स्टेशन पहुंच गई, और कहने लगी कि सर आप आए नहीं हमारे गांव।

पुलिस ने कहा अरे हम भूल गए होंगे हमारे पास बहुत काम है हम आ जाएंगे। 2 दिन पुलिस नहीं आई तो फिर से जया पुलिस स्टेशन पहुंच गई और इस बार गुस्से से कहने लगी कि आप किस बात के पुलिस वाले हो। जब आप किसी की मदद नहीं कर सकते, मैं दो बार आपके पुलिस स्टेशन आ चुकी हूं। आप मेरे गांव एक बार भी नहीं आए। पुलिस ने कहा ओ मैडम यह आपके गांव की परंपरा है। सिर्फ आपके गांव के लोग या गांव की पंचायत ही कुछ करेगी। साइड में खड़े एक पुलिस वाले ने कहा मैडम शादी कर लीजिए ना उससे ना सही तो मुझसे कर लीजिए मैं तो पुलिस वाला हूं।

जया को बहुत गुस्सा आया और वह वहां से चली गई। जया पुलिस स्टेशन से सीधे कमिश्नर के ऑफिस पहुंची, लेकिन जया को किसी ने मिलने नहीं दिया जया शाम को घर लौट कर आ गई। बहुत दुखी थी उसे नींद भी नहीं आ रही थी। लेकिन जया ने ठान लिया कि या तो कल को पुलिस गांव में आकर पंचायत को समझाएगी। और यदि ऐसा नहीं हुआ तो वह वहीं पर आत्महत्या कर लेगी। दूसरे दिन  जया अपना बैग लेकर कमिश्नर के ऑफिस चल दी कुछ देर बाद जया कमिश्नर के ऑफिस पहुंच गई।

लेकिन आज भी कोई जया को कमिश्नर से मिलने नहीं दे रहा था। जया ने बहुत मिन्नतें की लेकिन फिर भी जया को किसी ने भी कमिश्नर से मिलने नहीं दिया। जया ने  सोच लिया कि मुझे आत्महत्या ही करनी पड़ेगी। जया ने अपने बैग से जहर निकाला और कमिश्नर के ऑफिस के बाहर ही खा लिया। जब जया जहर खाकर गिर गई तो सभी देखने लगे कि इसे क्या हुआ। जब थोड़ी देर में जया को होश नहीं आया तो उसे अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन जब वह अस्पताल में पहुंची तो वह मर चुकी थी। सभी पुलिसवाले घबरा गए।

Motivational Quotes And Story In Hindi | Motivational Love Quotes In Hindi

क्योंकि उसने जहर कमिश्नर के ऑफिस के पास खाया था। और थोड़ी ही देर में मीडिया वाले भी वहां आ गए। और कमिश्नर को भी यह बात पता चल गई। तो कमिश्नर ने उसके बारे में पूरी जानकारी ली और अगले दिन जया की खबर अखबारों और टीवी चैनलों पर दिखाई जा रही थी। अब कमिश्नर ने तुरंत एक्शन लिया और पुलिस के साथ उसके गांव में गए। और लड़की और लड़के के घर वालों को पकड़ लिया, और जिन्होंने पंचायत में फैसला सुनाया था उन्हें भी पकड़ लिया और कहा इस गांव में जो परंपरा है वह अब नहीं मानी जाएगी। और जो कानून का उल्लंघन करेगा उसे पुलिस द्वारा पकड़ लिया जाएगा। इस प्रकार जया को मरने के बाद इंसाफ मिला और उस गांव से बचपन में शादी तय करने की परंपरा को भी खत्म कर दिया।

ना जाने कुछ लोग अभी भी बेटियों को कुछ नहीं समझते। बेटियों को सिर्फ मौका चाहिए आगे बढ़ने का वही बेटियां बड़ी होकर आईपीएस, आईएएस और इंदिरा गांधी जैसी महिलाएं बनती हैं।

इसलिए बेटियों को आगे बढ़ने दो इन्हें मत रोको। लड़कियां शांत जल की तरह होती हैं इन्हें शांति से बहने दो। वरना जब इन में लहरें उठती है ना दुनिया उजाड़ के रख देती हैं यह लड़कियां।

आपको मेरी रचना कैसी लगी प्लीज हमें कमेंट करके बताएं और शेयर भी करें।

About the author

Pooja

Leave a Comment

escort adana - escort bodrum - adana bayan escort - escort - adana escort bayan
Enable Notifications    OK No thanks