Stories Inspirational Story in Hindi Moral Stories in Hindi Moral Stories in Hindi Short Motivational short story in hindi Motivational Story in Hindi

Top 5 Best Motivational Story in Hindi – ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है

Top 5 Best Motivational Story in Hindi – ये कहानियाँ आपको सफल बना सकती है
Written by admin

In this post, You can read the Best Motivational Story Hindi, Best Moral Stories in Hindi for kids, Stories in Hindi Moral, Moral Stories in Hindi for class 7,  Motivational story in Hindi for success, Best Motivational story in Hindi for students, Motivational story in Hindi for students, Hindi moral stories for kids, Hindi moral stories for class 9, Hindi moral stories for class 8, Hindi moral stories for class 7 and Hindi moral stories for class 2 to inspire yourself.


Motivational Story:-1

नजरिया – Motivational Story in Hindi – मोटिवेशनल कहानी

नजरिया – Motivational Story in Hindi – मोटिवेशनल कहानी

नजरिया – Motivational Story in Hindi – मोटिवेशनल कहानी

दोस्तो किसी ने बड़े कमाल की बात कही है कि कभी उसको नजर अंदाज मत करो जो आपकी परवाह करता हो वरना आप पत्थर जमा करते करते हीरा खो देंगे।

एक तीर्थयात्रियों से भरी एक बस दर्शन करके वापस आ रही थी तभी मौसम बदल गया । जोरदार बारिश होने लगी बिजली चमकने लगी । ड्राइवर ने बस रोक दी । घबरा गया सारे यात्री परेशान हो गए । ड्राइवर ने कहा हममें से ही कोई एक ऐसा है जिसे भगवान अपने पास बुलाना चाह रहे हैं । ऐसा करते सामने जो पेड़े उसके पास एक एक करके हम सब जाएंगे उसको छूकर आएंगे जिसको भी भगवान अपने पास बुलाना चाहते हैं । उसके ऊपर अपने आप बिजली गिर जाएगी । एक  एक कर के सारे यात्री पेड़ के पास जाने लगे पेड़ को छू कर वापस भी आ रहे थे और सबको डर लग रहा था कि कहीं वो इंसान वहीं तो नहीं ।

अंत में बस में सिर्फ एक आदमी बच गया सब उसको गुस्से से देख रहे थे कि इसी की वजह से हम सब फंसे हैं । फिर वो आदमी भी पेड़ के पास गया । पेड़ को जैसे ही हाथ से छुआ ज़ोर से बिजली के कड़कने की आवाज आई लेकिन बिजली उस आदमी पर नहीं बस पर गिरी । यानी उस आदमी की वजह से सारे बस यात्रियों की जान बची हुई थी ।

जी हां दोस्तो हमारी जिंदगी में भी कई लोग ऐसे होते हैं जो हमें प्यार करते हैं हमारा ख्याल रखते हैं लेकिन हम उन्हें जज करने में लगे रहते हैं । जिस दिन हम लोगों को जज करना छोड़ देंगे हमारे अंदर पॉजिटिविटी आएगी और ज्यादातर लोग में अच्छे लगेंगे ।


Motivational Story:- 2 

Key Of Success – Motivational and Inspirational Story in Hindi

सफलता की कुंजी – नैतिक और प्रेरक कहानी हिंदी में Moral के साथ  

Key Of Success – Motivational and Inspirational Story in Hindi

Key Of Success – Motivational and Inspirational Story in Hindi

एक आदमी कहीं से गुजर रहा था तभी उसने सड़क के किनारे बांधे हाथियों को देखा और अचानक रुक  गया । उसने देखा कि हाथियों के अगले पैर में एक रस्सी बांधी हुई है । उसे इस बात का बड़ा आश्चर्य हुआ कि हाथी जैसे विशालकाय जीव लोहे की जंजीरों की जगह बस एक छोटी सी रस्सी से बांधे हुए । यह स्पष्ट था कि हाथी जब चाहे तब अपने बंधन को तोड़कर कहीं भी जा सकते थे । पर किसी वजह से वह ऐसा नहीं कर रहे थे । उसने पास खड़े महावत से पूछा कि भला यह हाथी किस प्रकार इतनी शांति से खड़े हैं और भागने का प्रयास क्यों नहीं कर रहे । तब महावत ने कहा इन हाथियों को छोटे पर से ही इन रस्सियों से बांधा जाता है । उस समय इनके पास इतनी शक्ति नहीं होती है कि इस बंधन को तोड़ सकें । बार बार प्रयास करने पर भी रस्सी न तोड़ पाने की वजह से उन्हें धीरे धीरे ये यकीन हो जाता है कि वह इन रस्सियों को तोड़ दे सकते हैं और बड़े होने पर भी उनका ही यकीन बना रहता है इसलिए वो कभी इसे तोड़ने का प्रयास ही नहीं करते ।

आदमी आश्चर्य में पड़ गया कि ये ताकतवर जानवर सिर्फ इसलिए अपना बंधन नहीं तोड़ सकते क्योंकि वो इस बात पर यकीन करते हैं कि वो ऐसा नहीं कर सकते । इन हाथियों की तरह ही हममें से कई लोग सिर्फ अपने पहले मिली असफलता के कारण ये मान बैठते हैं कि अब हमसे ये काम नहीं हो सकता और अपनी ही बनाई हुई मानसिक जंजीरों में बंधे हुए पूरा जीवन गुजार देते हैं ।

याद रखिए कि असफलता जीवन का एक हिस्सा है और निरंतर प्रयास करने से ही सफलता मिलती है । यदि आप भी ऐसे किसी बंधन से बंधे हैं जो आपको अपने सपने सच करने से रोक रहा है उसे तोड  डालिए।


Motivational Story:- 3  

जो फेल हुआ था 🔥 -Best Motivational Failure Story In Hindi  

जो फेल हुआ था -Best Motivational Failure Story In Hindi

जो फेल हुआ था 🔥 -Best Motivational Failure Story In Hindi

ये कहानी ना तुम्हारे रोंगटे खड़े कर देगी । एक लड़का पूरे साल मस्ती मजाक करता है । पढ़ाई में उसका थोड़ा भी मन नहीं बस हर जगह अपना वक्त बर्बाद करता है । साल खत्म हुआ । उसके स्कूल का रिजल्ट आया कुछ खास नहीं । वो बुरी तरह फेल हुआ । ये देख कर वह पूरी तरह शांत मानो एक पल में वो टूट गया । स्कूल से घर तक जाने की हिम्मत नहीं । उसे उसकी गलती का एहसास हुआ । दौड़ भाग कर अपने घर जा पहुंचा । अपनी मां को गले लगाकर वो खूब रोया । शांत बैठ कर अपनी गलती का एहसास किए जा रहा था और परेशान होकर रो रहा था । मां ने कहा कोई बात नहीं । फेल भी हुआ है । हारा तो नहीं ।

ज्यादा तो नहीं पर कुछ मदद जरूर मिली । वो दिन गुजरता रहा । शाम का वक्त हुआ । आज पड़ोस के लोग उसके घर पर आए । वो एक कोने में बैठकर सोच रहा था । उम्मीद लगाए बैठा था कि ये सारे आस पड़ोस के लोग मुझसे  मेरे नम्बर न पूछें । पर हुआ कुछ ऐसा । बेटा तुम्हारा  आज रिजल्ट आने वाला था।  कितने मार्क्स मिले पर उस लड़के में  हिम्मत नहीं थी। कि अपने मार्क्स बताये ।

तभी उसकी मां ने कहा मेरी बेटी को अच्छे माक्र्स मिले हैं।  उसने ९० % स्कोर किया है । ये सुनकर वो लोग थोड़े चौकसे गए वो लड़का इतना तो नहीं पढने  में आछा था । पर फिर भी थे अच्छे मार्क्स, लेकिन ये जवाब उसकी मां का था । इसलिए इसी बात को सच मानकर वो चुप हो गए । कुछ देर बाद जब सारे लोग चले गए तब वो लड़का जोरों से उठा और अपनी मां से कहा क्या जरूरत थी झूठ कहने की हो जाने दिया होता मुझे बदनाम । मुझे मेरी चिंता नहीं लेकिन जब उन सारे लोगों को पता चलेगा कि मुझे इतने अच्छे मार्क्स नहीं मिले हैं बल्कि मैं बुरी तरह फेल हुआ हूं तो वो सारे लोग तुम्हें ताना देंगे ।

एक माँ ने झूठ कहा,  सबको बताएंगे । ये सुन कर मां मुस्कुराई और कहा बेटा तुझे अगर मैं नहीं  समंझोंगी तो कौन समझेगा । सिर्फ स्कूल के नंबर से हारा तू जिंदगी के खेल से नहीं । मैं तुझे देखकर जी रही हूं । दुनिया को देख कर नहीं । ये सुनकर बेटा रो पड़ा ।


Motivational Story:- 4  

Life-Changing Failure Story – Best Motivational Story In Hindi

जीवन बदलने की असफल कहानी – हिंदी में सर्वश्रेष्ठ प्रेरक कहानी

Life-Changing Failure Story – Best Motivational Story In Hindi

Life-Changing Failure Story – Best Motivational Story In Hindi

लाइफ में प्रॉब्लम चल रही है कुछ समझ नहीं आ रहा । अगर सपनों के सफर में हारने का मन कर राय सबकुछ छोड़कर नॉर्मल जिन्दगी जीने का मन कर रहा है तो ये कहानी आपको हिंमत देगी और इस छोटी सी कहानी से आपको काफी कुछ सीखने को मिलेगा ।

ये कहानी है एक आदमी और एक गधे की है, इस कहानी को ध्यान से पढ़ना और समझने की कोशिश करना क्योंकि ये कहानी आपकी सोच बदल कर रख देगी । एक आदमी जंगल से जा रहा होता है उसके साथ में एक गधा होता है । थोड़ी दूर चलने के बाद वो गधा एक गड्ढे में गिर जाता है । वो गधा काफी कोशिश करता है उस गड्ढे से बाहर निकलने की लेकिन काफी मेहनत के बाद भी वो गधा उस गड्ढे से बाहर निकल नहीं पा रहा था  । उस आदमी ने भी काफी अलग अलग उपाय सोचे ।

गधे को गड्ढे से बाहर निकालने के लिए लेकिन वो आदमी हार मानकर ये सोच लेता है कि उसका गधा अब उस गड्ढे से बाहर नहीं निकल सकता । वो आदमी सोचता है कि अब गधे को इसी गड्ढे में दफन कर देना चाहिए ताकि इसे कोई जानवर मारकर खा ना ले । थोड़ी ही दूर मिट्टी का ढेर होता है । वो आदमी मिट्टी के ढेर से मिट्टी लाकर उस गड्ढे में गधे के ऊपर डालता है । वो थोड़ी थोड़ी मिट्टी उस गधे के ऊपर डालता है ।

लेकिन कमाल की बात तो ये होती है कि गधा दफन होने के बजाए मिट्टी के सहारे ऊपर ऊपर आता है यानी धीरे धीरे मिट्टी की वजह से वो गड्ढा भरता जाता है और वो गधा ऊपर आते रहता  है ।

दोस्तो जहां एक वक्त उस आदमी ने हार मान कर और यह सोच कर उस गधे को दफनाने का निश्चय किया कि उस गधे को बचाने का कोई तरीका नहीं है । लेकिन जिस तरीके से वो आदमी उस गधे को दफना रहा था उसी तरीके से उस गधे की जिंदगी बच गई ।

दोस्तो हमारे लाइफ में भी ऐसा वक्त बार बार आता है जब  हमें लगता है कि हमारी जिंदगी में ऐसी मुश्किल है जिसका कोई हल नहीं है । लेकिन सच्चाई तो ये है कि ऐसी कोई मुश्किल ही नहीं है जिसका कोई हल ना हो । यानी हर मुश्किल का हल है ।


Motivational Story:- 5

ज़िन्दगी में बहुत सारा पैसा आएगा कैसे – Motivational Story in Hindi 

अगर आपसे कोई कहे कि आपके पास भी बहुत सारा पैसा होगा बहुत सारा पैसा आ  जाएगा तो आप क्या करेंगे। आप सबसे पहले सपने देखना शुरू करेंगे अगर पैसा आयेगा तो आप क्या कर रहे होंगे क्या खरीदेंगे कैसे कैसे खर्च करेंगे लेकिन पैसा आएगा कैसे ?

एक बार एक आश्रम में गुरुजी के पास एक शिष्य रहा करता था और वो शिष्य  बड़ा आलसी था । वो आज  का काम कल पर कल का काम  पर टाला करता था। गुरुजी को समझ नहीं आ रहा है की   इस शिष्य को समझावों  तो समझावों  कैसे एक दिन उनके दिमाग में एक आइडिया आया और उन्होंने अपने शिष्य से कहा कि मैं आश्रम से दो दिन के लिए बाहर जाता हूँ और जाने से पहले एक बात बता के  जाता हूँ। तुम्हे एक काला पत्थर देना । ये जो काला पत्थर है,  ये जादुई पत्थर है इस पत्थर से अगर तुम किसी लोहे की चीज को  छोवोगे  तो लोहा सोना बन जाएगा लेकिन याद रखना तुम्हारे पास सिर्फ दो दिन का वक्त । कल शाम को सूर्यास्त के बाद जब मैं वापस आऊंगा तो ये  काला पत्थर  मुझे लौटाना होगा। ऐसा बोल करके वहां से गुरुजी चले गये ।

अब  जो शिष्य था क्योंकि आलसी था आज का काम कल पर उसने सोचा कि अपने पास आज का पूरा दिन है कल का पूरा दिन कर ही लेंगे जैसे इसके पत्थर मिलाये सोचना शुरू कर दे कि इस पत्थर से मैं क्या क्या कर सकता हूँ बहुत सारा लोहा जो सोने बदलने में बहुत सारा सोना बेचकर ये सब कुछ खरीद लूंगा दुनिया की जो चीज मुझे चाहिए वो चीज मेरे पास होगी। तो ऐसे सपने देखने में ये पूरा दिन इस शिष्य ने  निकाल दिया जब दूसरे,  दिन वह सूर्योदय हुआ तो उसने सोचा कि हां आज का आखिरी दिन है। इसको मालूम था कि आज शाम में गुरु जी आ जायेंगे और  पत्थर चला जाएगा ।

इस बंदे ने सोचा कि दोपहर में जाकर के बाजार से लोहा खरीदना होगा और इस काले पत्थर से लोहे को छुंगा और लोहा सोना बन जाएगा और फिर जो है मेरे सपने वो पूरे हो जाएंगे । दोपहर तो उसने सोंचा  खाना खा लेता हूँ।  उसके बाद मैं चला जाऊँगा । इस शिष्य आदत थी सोने की खाने के बाद, में उसने थोड़ी देर लेट जाते हैं।  उसके बाद चले  जाते  है। लेट गया और नींद ऐसी आई कि  फिर सूर्यास्त होने वाला था तुरंत ये जागा और भागने लगा । मार्केट की तरफ बाज़ार की तरफ़ जा ही रहा था कि गुरुजी सामने से आ रहे थे ।

उन्होने कहा  वक्त समाप्त हो चुका है।  काला पत्थर मुझे लौटा दो ।

जिन्दगी में भी हमारे साथ यही हो रहा है । हम सपने तो बहुत बड़े बड़े देखते हैं हर किसी के पास बहुत बड़ा सपना है लेकिन उसको पूरा करने के लिए कोशिश नहीं  करते हैं। दो दिन कोशिश करते हैं फिर भूल जाते चार दिन कोशिश करते हैं फिर भूल जाते ।

अगर आप अपनी लाइफ में कुछ अचीव करना चाहते हैं तो पैशन चाहिए और वो पैशन वो लगन कुछ इस कदर होना चाहिए जैसे सचिन तेंडुलकर का था । सचिन तेंडुलकर जिस दिन मैच नहीं होता था उस दिन भी प्रैक्टिस करते थे ।

आपको यह मोटिवेशनल पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं । धन्यवाद ।

About the author

admin

1 Comment

Leave a Comment

Enable Notifications.    Ok No thanks